Saturday, June 17, 2006

तामील-ए-हुक्म (Execution of Command)

लो हुक्म-ए-तर्क-ए-रब्त की तामील हो गयी
अफ़्सोस है फ़क़त यही ताजील हो गयी

क़ुर्बत हुआ जो करती थी गुफ़्तार में कभी
ऐ हैफ़ फ़ासलों में क्यूँ तब्दील हो गयी

ख़ुद को दिया फ़रेब मुहब्बत के नाम पर
अच्छा हुआ कि बात की तफ़्सील हो गयी

तक़्सीरवार बोलिये ठहराएँ किस को हम
अपना ही था क़ुसूर जो तज़्लील हो गयी

रखेगा याद हम को भी हर हाल में जहाँ
हस्ती हमारी दर्द की तम्सील हो गयी

हुक्म = order, command; तर्क = abandonment, desertion; रब्त = connection, relationship; तामील = execution (of command); ताजील = haste
क़ुर्बत = closeness; गुफ़्तार = conversation; हैफ़ = Alas!; तब्दील = change, modification, alteration, conversion
फ़रेब = delusion; तफ़्सील = explanation, analysis, clarification
तक़्सीरवार = guilty; क़ुसूर = fault; तज़्लील = debasement, humiliation
हस्ती = existence; तम्सील = example, allegory, comparison